Wednesday, May 28, 2014

खामोश

एक सच छुपा होता है -:
जब कोई किसी को कहता है कि
"मजाक था यार।"
.
.
एक संवेदना छुपी होती है -:
जब कोई कहता है कि
"मुझे कोई फर्क नही पड़ता।"
.
.
एक दर्द छुपा होता है-:
जब कोई कहता है
"इट्स ओके।"
.
.
एक जरूरत छुपी होती है -:
जब कोई कहता है
"मुझे अकेला छोड़ दो।"
.
.
एक गहरी बात छुपी होती है-:
जब कोई कहता है
"पता नही।"
.
.
एक समंदर छुपा होता है
बातों का -:
"जब कोई खामोश रहता है।"

No comments:

Post a Comment

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...